MP : मंत्रिमंडल विस्तार टला पर प्रभारी राज्यपाल आनंदी बेन बुधवार को आएँगी,लेंगी शपथ

भोपाल। प्रदेश की प्रभारी एवं उत्तरप्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल बुधवार को अपरान्ह में भोपाल आएंगी। कल ही शाम करीब साढ़े चार बजे वह अपने पद की शपथ लेंगी। मप्र हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश उन्हें शपथ दिलाएंगे। इधर,शिवराज सरकार का बहुचर्चित मंत्रिमंडल विस्तार अब गुरुवार या शुक्रवार को होने के आसार हैं।

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर पार्टी हाईकमान से चर्चा के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज सुबह भोपाल लौटे। उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और सुहास भगत भी भोपाल लौट आएं हैं। अपने दो दिवसीय दिल्ली प्रवास के दौरान मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मुख्यमंत्री की पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ कई दौर की बैठकें हुई,लेकिन आज शाम तक नए मंत्रियों के नामों को लेकर अंतिम फैसला नहीं हो सका था।

दो दिन की मैराथन बैठक के बाद भी नतीजा नहीं निकलने पर मुख्यमंत्री आज सुबह भी वापस भोपाल लौट आए और मंत्रालय पहुंचे। श्री चौहान पूरे दिन शासकीय कामकाज में व्यस्त रहे। शाम को वह पुन: प्रदेश भाजपा मुख्यालय पहुंचे व पार्टी नेताओं से मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा की। इस दौरान श्री चौहान ने मीडिया से अनौपचारिक चर्चा में मंत्रिमंडल विस्तार परसों या इसके बाद होने की बात कही।

इसलिए बढ़ी थीं संभावनाएं
मंत्रिमंडल विस्तार बुधवार को होने की अटकलें राजनैतिक हल्कों में आज पूरे दिन सरगर्म रहीं। प्रभारी राज्यपाल के कल भोपाल पहुंचने की खबर से इसे और बल मिला। दूसरी बढ़ी वजह बुधवार को ही देवश्यनी एकादशी होना मानी गई। दरअसल,धार्मिक मान्यतानुसार,इसके बाद देव शयन होने से अगले 5 महीने कोई शुभ कार्य वर्जित होंगे।

शाम को प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे शिवराज
नईदिल्ली में पार्टी हाईकमान के साथ दो दिन की मैराथन बैठक के बाद भी नतीजा नहीं निकलने पर मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मंगलवार शाम को एक बार फिर मंथन हुआ। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शाम को प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे व पार्टी प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा एवं प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत व अन्य नेताओं से चर्चा की।पार्टी सूत्रों के अनुसार, मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर असल पेंच नए व पुराने चेहरों को लेकर है। पार्टी हाईकमान जहां इस बार अधिकांश नए चेहरे को मंत्रिमंडल में स्थान देने के पक्ष में हैं। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह करीब एक दर्जन पूर्व मंत्रियों व अन्य वरिष्ठ नेताओं को अपनी टीम में शामिल करना चाहते हैं। बताया जाता है,कि श्री चौहान अपने साथ करीब तीस लोगो की सूची लेकर दिल्ली गए थे। दो दिन के प्रवास के दौरान उनकी गृहमंत्री अमित शाह,पार्टी अध्यक्ष जे.पी.नड्डा,राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी.एल.संतोष,केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर,सांसद ज्योतिरादित्य ङ्क्षसधिया से कई दौर की बातचीत हुई। बताया जाता है,कि जिन नामों की सूची मुख्यमंत्री लेकर वहां गए थे। उन पर एक राय कायम नहीं हो सकी। नतीजतन,श्री चौहान आज सुबह पार्टी प्रदेशाध्यक्ष श्री शर्मा व संगठन महामंत्री श्री भगत के साथ वापस लौटे व देर शाम एक बार फिर मंत्रियों के नामों को लेकर मंथन किया।
भूपेंद्र सिंह ने भी भी पार्टी प्रदेशाध्यक्ष से चर्चा
उक्त बैठक से पूर्व उपचुनाव प्रबंध समिति के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी पार्टी प्रदेशाध्यक्ष श्री शर्मा से चर्चा की। बैठक के बाद श्री शर्मा ने मीडिया से चर्चा में कहा,कि नए पुराने सभी काम करने वाले नेता, जो संगठन के लिए आवश्यक होगा, हमारा नेतृत्व उसका निर्णय जल्दी करेगा। उन्होंने कहा,कि भाजपा अपने संगठन तंत्र के आधार पर काम करती है। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर जो भी निर्णय होगा,उसका जल्दी ही खुलासा किया जाएगा। श्री शर्मा ने कहा,कि प्रत्येक प्रक्रिया में समय तो लगता है।
कल नहीं होगा मंत्रिमंडल विस्तार
वहीं बैठक में चर्चा से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से कहा,कि कल मंत्रिमंडल विस्तार नहीं होगा। यह परसों या उसके बाद भी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here