कोविड 19 के निवारण के लिये सामूहिक प्रयोग

भोपाल
दिन रविवार को प्रातः 9 से 12 बजे के बीच कोविद 19 के निवारण के लिये पूरे विश्व मे एक साथ गायत्री मंत्र एवं महामृत्युंजय मंत्रो से दुनिया के 100 देशो में दी जाएगी आहुतियां । जिसमें गायत्री परिवार से जुड़े करीब 15 करोड़ लोग भाग लेंगे। आयुष विभाग द्वारा ये प्रमाणित किया गया है कि यज्ञ से वातावरण सेनेटाइज होता है और कोरोना के विषाणु समाप्त होते है ।  31 मई को यदि प्रत्येक घरो में गायत्री मंत्र तथा महामृत्युंजय मंत्र से आहुतियां दी जाती है तो रोगों से मुक्ति तथा वातावरण शुद्ध होता है ।

अतः सभी भाइयो बहनो से विनम्र प्रार्थना है कि 31 मई को ऐसा कोई घर न छुटे जहाँ यज्ञ एवं कोविद 19 से मुक्ति हेतु अपने अपने इष्ट से प्रार्थना ना हो ।आपको यज्ञ कर्मकांड नही आता है तो कोई बात नही जैसे आप प्रतिदिन पूजन करते है वैसी पूजा कर किसी पात्र में रेत या मिट्टी डालकर कुंड बना ले ,अग्नि प्रज्ज्वलित कर हवन करें गायत्री मंत्र की 5 – 11 या 24 और महामृत्युंजय मंत्र की 3 या 5 आहुति के साथ अपने गुरुमंत्र व ईष्ट मंत्र, कुलदेव मंत्र आदि मंत्रों की आहुति अपनी सुविधानुसार दे सकते हैं। हवन सामाग्री के आभाव में घर मे उपलब्ध चावल शक्कर गुड़ घी आदि मिलाकर तैयार कर ले ।

मुख्य प्रबंध ट्रस्टी डॉ0 अनिल तिवारी ने कहा कि जो परिजन मोबाइल पंडित से यज्ञ करना चाहते है वे यूट्यूब पर देखकर भी हवन कर सकते है ,कर्मकांड भास्कर एप डाऊनलोड करके मंत्र देख तथा सुन कर भी कर सकते है । साथ ही कोरोना महामारी में प्राणपन से जुटे कोरोना वॉरियर्स डॉक्टर , नर्सेज , पुलिस , सुरक्षा कर्मियों के साथ कोरोना से ग्रसित मरीजो को शीर्घ स्वास्थ्य लाभ की कामना तथा कोरोना रोग के समूल खात्मे की प्रार्थना करना है । जो भी परिजन 31 मई को अपने घर मे यज्ञ करने जा रहे हैं कृपया मोबाइल नं0 9425655871 पर व्हाट्सएप या किसी भी माध्यम से गायत्री शक्तिपीठ सागर को सूचित अवश्य करें, ताकि एक विधिवत रिकॉर्ड बनाया जा सके। अभी तक 1500लोगों के रजिस्ट्रेसन गायत्री मंदिर सागर में हो चुके है इसी प्रकार जिले केअन्य स्थानो पर भी पंजीयन हो रहे है बिना पंजीयन भी यज्ञ कर सकते है जिसकी सहमति लोगों द्वारा दी जा रही है सागर ज़िला में लगभग 20000 यज्ञ एक साथ होंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here