उत्तर प्रदेश में अब तक 258 कोरोना संक्रमित मरीज, 108 तबलीगी जमात के लोग 

लखनऊ। 
उत्तर प्रदेश में शनिवार को कोरोना वायरस से संक्रमित कुल 75 नए मरीज पाए गए। इसमें तबलीगी जमात के 54 लोग शामिल हैं। अब तक प्रदेश में कुल 258 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। इसमें 108 मरीज ऐसे हैं, जो निजामुद्दीन तबलीगी जमात में शामिल हुए थे। केवल पश्चिमी यूपी में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 135 पहुंच गई है। प्रदेश सरकार ने अब तक तबलीगी जमात से प्रदेश में आए 1302 लोगों की पहचान की है। इस बीच, शनिवार को कानपुर में जमात के लोगों के संपर्क में रहे एक बुजुर्ग की मौत हो गई। हालांकि अभी उसे कोरोना संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।

अभी तक सर्वाधिक 58 मरीज नोएडा में मिले हैं। वहीं 268 संदिग्ध मरीजों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती किया गया। जबकि दो और मरीजों को छुट्टी दे दी गई। अब तक स्वस्थ हो चुके मरीजों की संख्या भी बढ़कर 21 हो गई है। इसमें कानपुर के उर्सला अस्पताल में भर्ती एक बुजुर्ग भी शामिल हैं, जो पूरी तरह स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से घर भेजा गया। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते दो दिनों में कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से हुए इजाफे के पीछे तबलीगी जमात में शामिल लोग मुख्य कारण हैं। यूपी में अब कोरोना वायरस का संक्रमण कुल 30 जिलों तक फैल गया है।

अब तक मिले मरीजों में नोएडा के 58, आगरा के 44, मेरठ के 32, गाजियाबाद के 14, लखनऊ के 10, कानपुर के 7, लखीमपुरखीरी एक, पीलीभीत के दो, वाराणसी के पांच, शामली के छह, जौनपुर के तीन, बागपत के दो, बरेली के छह, बुलंदशहर के तीन, बस्ती के पांच, हापुड़ एक, गाजीपुर के दो, आजमगढ़ के तीन, फिरोजाबाद के चार, सहारनपुर के 13 हरदोई एक, प्रतापगढ़ के तीन, बांदा एक, शाहजहांपुर एक, महाराजगंज के छह, हाथरस के चार, मिर्जापुर के चार, औरैया के तीन और बाराबंकी का एक मरीज शामिल है।

उधर जो 21 लोग अब तक स्वस्थ घोषित किए गए हैं उनमें आगरा के आठ, नोएडा के आठ, गाजियाबाद के तीन और कानपुर और लखनऊ का एक-एक मरीज है। प्रमुख सचिव का कहना है कि बुजुर्ग भी अब इस संक्रमण से ठीक हो रहे हैं। ऐसे में घबराने की बात नहीं है। सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करना होगा।

4280 की रिपोर्ट आई निगेटिव, 177 कि आना बाकी
यूपी में अभी तक कुल 4457 लोगों के नमूने जांच के लिए लैब भेजे जा चुके हैं और इसमें से 4280 मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आई है यानी इनमें कोरोना वायरस नहीं पाया गया। 177 लोगों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।  उधर, रैपिड रिस्पांस टीम ने शनिवार को 17870 ऐसे लोगों को चिन्हित किया जो विदेश यात्रा से वापस लौटे हैं। अब तक यूपी में ऐसे 59994 लोग चिन्हित किए जा चुके हैं।

अब तक 1302 जमातियों की पहचान, सभी क्वारंटीन किए गए
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि तबलीगी जमात से जुड़े 1302 लोगों को चिह्नित कर चिकित्सीय परीक्षण के बाद क्वारंटीन करा दिया गया है। तबलीगी जमात के मरकज में एक फरवरी 2020 के बाद विदेशों से आए कुल 306 लोगों में से 305 विदेशी व्यक्तियों को क्वारंटीन किया गया है। इन विदेशी व्यक्तियों के विरुद्ध लॉक डाउन आदि के उल्लघंन पर 16 जिलों में कुल 36 एफआईआर एपिडेमिक एक्ट, फारेनर्स एक्ट व वीजा रूल्स आदि की धाराओं  के तहत दर्ज की गई है।

कालाबाजारी में अब तक 131 एफआईआर दर्ज
अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि कालाबाजारी व मुनाफाखोरी के आरोप में ईसी एक्ट के तहत प्रदेश में अब तक 131 एफआईआर दर्ज की गई है। इसी तरह लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत अब तक 8367 एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर 5301 बैरियर लगाए गए हैं। इसके साथ ही अब तक 1010224 वाहन चेक किए गए हैं, जिसमें से 213893 वाहनों का चालान किया गया है और 15549 वाहनों को सीज किया गया है। सीज किए गए वाहनों से 4,18,23,243 रुपये शमन शुल्क वसूल किया गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here