सफाईकर्मी की माँ से बोले मंत्री तोमर माताजी खाना मिलेगा, सुबह से भूखा हूँ

ग्वालियर
 अक्सर सुर्खियों में रहने वाले मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर एक बार फिर चर्चा में हैं. तोमर 20 दिन बाद जब ग्वालियर पहुंचे तो सुबह 6 बजे से ही लोगों को हाल-चाल जानने घर से निकल गए. इस बीच जब वे विधानसभा वार्ड 15 के श्री कृष्ण नगर पहुंचे तो अजीब वाक्या हो गया.

यहां मंत्री तोमर ने वाल्मीकि समाज के श्यामवीर बाल्मीकि की विधवा माता सफाईकर्मी से हाल-चाल पूछा. उन्होंने महिला से कहा- मैं सुबह से जनसंपर्क पर निकला हूं, कुछ खानों को मिलेगा क्या? यह सुनकर बुजुर्ग महिला हैरान रह गई. लेकिन, जब मंत्री ने दोबारा कहा तो महिला खाने की थाली परोस लाई. प्रद्युम्न सिंह तोमर ने खाना खाया और बुजुर्ग महिला से पूछा- माता जी आपको पेंशन मिलती है, क्या, महिला ने कहा नहीं मिलती. तब मंत्री ने अफसरों को बुलाकर बुजुर्ग महिला की पेंशन चालू करवाई.

लगभग एक पखवाड़े के बाद शनिवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar ) ग्वालियर लौटे। आदत के मुताबिक मंत्री जी सुबह सुबह अपनी विधानसभा क्षेत्र के भ्रमण पर निकल गए। वे वार्ड 15 के श्रीकृष्ण नगर में पहुंचे तो बाल्मीकि समाज के श्यामवीर बाल्मीकि के घर के दरवाजे पर बैठ गए और सफाईकर्मी की विधवा माँ से पूछा माताजी मैं सुबह से घर से दौरे पर निकला हूँ कुछ खाने को मिलेगा क्या? मंत्री की बात सुनकर बुजुर्ग माँ बड़े प्यार से खाने की थाली परोस लाई और ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (Pradyuman Singh Tomar ) ने उसकी देहरी पर जमीन पर बैठकर खाना खाया। उन्होंने जब बुजुर्ग विधवा माँ से पेंशन के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि नहीं मिलती, इतना सुनते ही ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने प्रशासन के अधिकारियों को निर्देश देकर तत्काल बुजुर्ग की विधवा पेंशन शुरू करवाई। मंत्री के इस सहज और सरल स्वभाव की एक फिर चर्चा शहर में हो रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here