भारत ने LAC पर तैनात की निर्भय मिसाइल ,मारक क्षमता 1000 किलोमीटर तक

  नई दिल्ली

लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पर जारी तनाव के बीच भारत की सैन्य ताकत को और मजबूती मिली है. भारत ने सीमा पर निर्भय क्रूज मिसाइल को भी तैनात कर दिया है. यह मिसाइल 1000 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है. निर्भय मिसाइल तिब्बत में चीन के ठिकानों पर हमला करने में सक्षम है.

5 महीने से ज्यादा समय से भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है. कई जगहों पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं. ऐसी स्थिति में भारत ने सीमा पर अपनी सबसे भरोसेमंद मिसाइल को तैनात किया है. इसकी रेंज 1000 किमी है.

क्या है मिसाइल की खासियत

इस मिसाइल की क्षमता अमेरिका की प्रसिद्ध टॉमहॉक मिसाइल के बराबर है. यह मिसाइल बिना भटके अपने निशाने पर अचूक मार करने में सक्षम है. निर्भय क्रूज मिसाइल को भारत में ही डिजाइन और तैयार किया गया है. इस मिसाइल का पहला परीक्षण 12 मार्च 2013 में किया गया था. निर्भय दो चरण वाली मिसाइल है, पहली बार में लबंवत दूसरे चरण में क्षैतिज. यह पारंपरिक रॉकेट की तरह सीधा आकाश में जाती है फिर दूसरे चरण में क्षैतिज उड़ान भरने के लिए 90 डिग्री का मोड़ लेती है.

इस मिसाइल को 6 मीटर लंबी और 0.52 मीटर चौड़ी बनाया गया है. यह मिसाइल 0.6 से लेकर 0.7 मैक की गति से उड़ सकती है, इसका वजन अधिकतम 1500 किलोग्राम है जो 1000 किलोमीटर तक मार कर सकती है, एडवांस सिस्टम लेबोरेटरी द्वारा बनाई गई ठोस रॉकेट मोटर बूस्टर का प्रयोग किया गया है जिससे मिसाइल को ईंधन मिलता है.

टी-90 भीष्म टैंक भी तैनात

चीन से टेंशन के बीच भारत बॉर्डर पर लगातार अपने घातक हथियारों को तैनात कर रहा है. इससे पहले दुनिया के सबसे अचूक टैंक माने जाने वाले टी-90 भीष्म टैंक को तैनात किया था. टी-90 भीष्म टैंक में मिसाइल हमले को रोकने वाला कवच है. इसमें शक्तिशाली 1000 हॉर्स पावर का इंजन है. यह एक बार में 550 किमी की दूरी तय करने में सक्षम है. इसका वजन 48 टन है. यह दुनिया के हल्के टैंकों में एक है. टी-90 भीष्म टैंक दिन और रात में दुश्मन से लड़ने की क्षमता रखता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here