राम मंदिर निर्माण पर कमल नाथ के बाद दिग्विजय ने भी जताई आस्था, पर ओवैसी भड़के

भोपाल
मप्र कांग्रेस अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ द्वारा राम मंदिर निर्माण का स्वागत करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी मंदिर निर्माण के प्रति अपनी आस्था जताने के साथ तंज भी किया है।

शिलान्यास के मुहूर्त को लेकर दिग्विजय ने उठाया सवाल
सिंह ने ट्वीट कर कहा, 'राम हमारी आस्था के केंद्र हैं, पर बिना मुहुर्त के शिलान्यास कर धार्मिक भावना से खिलवाड़ किया जा रहा है।'

कांग्रेस के राम मंदिर निर्माण का स्वागत करने से ओवैसी भड़के
उधर, धर्म निरपेक्षता की राजनीति करने वाली कांग्रेस के राम मंदिर निर्माण का स्वागत करने से ऑल इंडिया इत्तेहादुल मुसलमिन (एआइएमआइएम) के नेता व सांसद ओवैसी भड़क उठे हैं।

ओवैसी ने कसा कमल नाथ पर तंज, कहा- जालिम, दिल की बात जुबां पर आ ही गई
उन्होंने कमल नाथ पर तंज कसा, 'जालिम, दिल की बात जुबां पर आ ही गई। कांग्रेस को चाहिए कि वह अपने सभी कार्यालयों से रेत अयोध्या के राम मंदिर भिजवाए।' इसे लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक अभय दुबे ने ओवैसी पर पलटवार करते हुए कहा कि अपने मन में बैठे रावण को बाहर निकालकर देखें।

रामभरोसे चल रहा देश : दिग्विजय
दिग्विजय ने कहा कि बिना मुहूर्त के शिलान्यास किया जा रहा है जो धार्मिक भावना और मान्यताओं के साथ खिलवाड़ है। राम हमारी आस्था के केंद्र हैं और आज समूचा देश भी राम भरोसे ही चल रहा है। इसीलिए हम सबकी आकांक्षा है कि जल्द से जल्द अयोध्या में भव्य मंदिर बने। मगर उनका कहना है कि पांच अगस्त को कोई मुहूर्त नहीं है जबकि देश के 90 प्रतिशत से ज्यादा हिंदू मुहूर्त, ग्रहदशा, चौघडि़या के धार्मिक विज्ञान को मानते हैं।

एक दिन पूर्व कांग्रेस का हनुमान चालीसा पाठ
कमल नाथ ने एलान किया है कि 4 अगस्त को सभी कांग्रेस कार्यकर्ता अपने-अपने घर पर हनुमान चालीसा का पाठ करें। कोरोना महामारी संक्रमण फैलने से रोकने की गाइड लाइन का पालन करते हुए यह पाठ करें। इसी दिन कमल नाथ अपने निवास पर चार अगस्त की शाम को हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here