विधानसभा को अपने अस्तित्व का अखाड़ा न बनाएं कांग्रेस नेता: राहुल कोठारी


भोपाल।  लोकसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया लोकसभा अथवा विधानसभा के सदस्य नहीं हैं। वह जिस तरह खुलेआम प्रेस कांफ्रेंस करके मध्यप्रदेश विधानसभा को अपने राजनीतिक अस्तित्व को बचाने की लड़ाई का अखाड़ा बना रहे हैं,  वह न केवल संवैधानिक मर्यादाओं का हनन है,  बल्कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिए अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा विधानसभा परिसर में प्रेस कांफ्रें स किए जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।
प्रदेश प्रवक्ता श्री कोठारी ने कहा कि आज जिस तरह विधानसभा परिसर के अंदर श्री  सिंधिया ने निषिद्ध क्षेत्र में विधानसभा एवं प्रशासन की अनुमति के बिना प्रेस कॉन्फ्रें स की है, वह आईपीसी की धारा 144 का उल्लंघन है और इसके लिए उनके खिलाफ आपराधिक मुकदमा भी दर्ज किया जाना चाहिए। श्री कोठारी ने कहा कि लोकसभा चुनाव में पराजित कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा मध्यप्रदेश विधानसभा के परिसर का राजनीतिक उपयोग किए जाने पर उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन की कार्यवाही भी की जानी चाहिए। श्री कोठारी ने कहा कि आज की घटना से स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस पार्टी नियमों एवं मर्यादाओं में विश्वास नहीं करती। उन्होंने कहा कि यदि इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष द्वारा तत्काल कड़ी कार्यवाही नहीं की जाती है, तो इस मामले में विधानसभा अध्यक्ष की भूमिका भी संदेहास्पद हो जाती है, जिस पर राज्यपाल को संज्ञान लेना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here