मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं बुलाये जाने का पाक को मलाल,भारत को दोषी बताया

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को अपने कार्यकाल की दूसरी पारी शुरू करेंगे। 30 मई को नरेंद्र मोदी और उनके मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह होगा। जिसमें कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों को बुलाया गया है।
हालांकि पाकिस्तान से किसी भी बड़े नेता और राष्ट्राध्यक्ष को न बुलाए जाने से, वैश्विक स्तर पर हलचल मची हुई है। पाकिस्तान ने इस मामले में भारत को ही दोषी बता दिया है।
शपथ ग्रहण समारोह में न बुलाए जाने को लेकर, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि,भारत में नरेंद्र मोदी की जीत, पाकिस्तान का विरोध करने से हुई। उन्होंने पाकिस्तान विरोधी कार्ड खेला। जिसके कारण अब पीएम मोदी पाकिस्तान के नेताओं को शपथग्रहण समारोह में नहीं बुला सकते हैं। यदि वे ऐसा करते हैं तो उनकी आलोचना होने लगेगी।
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत में मोदी और उनके दल की चुनावी जीत पर फोन कर बधाईयां दीं इस बात में कुछ अलग नहीं है, जब पाकिस्तान में इमरान खान प्रधानमंत्री बने तो भारत के पीएम मोदी ने फोन कर उन्हें शुभकामनाएं दीं।
भारत इस तरह के विवादों में पड़ने के स्थान पर कश्मीर, सियाचिन और सर क्रीक जैसे विवादों पर बातचीत आगे बढ़ाए। पुलवामा में हुए हमले में पाकिस्तान का हाथ नहीं था, यह बात दुनिया जान चुकी है, भारत इस मामले में पाकिस्तान पर लगाए गए आरोपों को लेकर, किसी भी तरह के सबूत नहीं दे सका है।
उन्होंने कहा कि अगर मोदी दक्षिण एशिया में विकास चाहते हैं तो उन्हें पाकिस्तान के साथ मिलकर बातचीत से इन मुद्दों का हल निकालना होगा।
गौरतलब है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के ऑफिशियल अकाउंट से अधिसूचना जारी कर बताया गया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, नरेंद्र मोदी को 30 मई की शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here