मप्र : साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने रखा 21 प्रहर का मौन व्रत ,ट्वीट कर फिर मांगी माफ़ी

भोपाल। एग्जिट पोल्स अनुमान सामने आने के बाद भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अपने पूर्व में दिए गए बयान के लिए एक बार फिर माफ़ी मांगी है।

इस बार वह बोली नहीं बल्कि ट्वीट किया। इसमें उन्होंने कहा ,कि चुनावी प्रक्रियाओ के उपरान्त अब समय है चिंतन मनन का,इस दौरान मेरे शब्दों से समस्त देशभक्तों को यदि ठेस पहुंची है तो मैं क्षमा प्रार्थी हूँ और सार्वजनिक जीवन की मर्यादा के अंतर्गत प्रयश्चित हेतु 21 प्रहर के मौन व कठोर तपस्यारत हो रही हूँ। हिन्दू धर्मानुसार दिन-रात मिलाकर 24 घंटे में आठ प्रहर होते हैं। इस तरह 21 प्रहर यानी करीब 2 दिन 5 घंटे .
गौरतलब है ,कि इस लोकसभा चुनाव में नेताओं की बदजुबानी और विवादित बयानों ने सारी सीमाएं लांघ दी। खासतौर पर भोपाल लोकसभा सीट पर तो साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अपने बयानों से कई बार सियासी विवाद खड़े किए। कभी पार्टी ने सफाई दी तो कभी वो खुद को बेदाग बताने के लिए सामने आई। बात इतनी बढ़ी कि चुनाव आयोग ने उनके प्रचार करने पर रोक लगा दी।

लेकिन इस सबके बीच उनके एक बयान से बड़ा सियासी भूचाल आ गया। दरअसल चुनाव प्रचार के दौरान महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या करने वाले गोडसे को साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने देशभक्त करार दिया था। साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे को आतंकी बताने वाले कमल हासन के बयान पर पलटवार करते हुए कहा था कि, नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, देशभक्‍त हैं और देशभक्‍त रहेंगे।
उनके इस बयान के बाद पार्टी मुश्किल में घिर गई थी। दबाव बढ़ने पर साध्वी को माफी मांगनी भी पड़ी। अब जबकि चुनाव खत्म हो गए हैं तो साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक और ट्वीट किया। इसमें उन्होंने उक्त बातें कही।
बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर दिए गए विवादित बयानों पर कड़ा ऐतराज जताया था। मध्य प्रदेश के खरगोन में हुई अपनी आखिरी चुनावी रैली में उन्होंने एक न्यूज चैनल से हुई बातचीत में कहा था कि, वो साध्वी प्रज्ञा को कभी मन से माफ नहीं कर पाएंगे।
मोदी ने कहा कि ऐसे सभी बयान पूरी तरह गलत हैं।उन्होंने कहा कि गांधी जी या गोडसे के बारे में बयानबाजी गलत है। उन्होंने कहा कि मैं चाहूं भी तो साध्वी को मन से कभी माफ नहीं कर पाऊंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here