मप्र भाजपा प्रवक्ता ने महात्मा गांधी को ‘पाकिस्तान का राष्ट्रपिता’ बताया; पार्टी से निलंबित

भोपाल. भोपाल संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताए जाने का विवाद अभी पूरी तरह शांत भी नहीं हो पाया था कि पार्टी के एक और नेता ने महात्मा गांधी को ‘पाकिस्तान का राष्ट्रपिता’ बताकर एक नए विवाद को हवा दे दी।

हालांकि पार्टी ने इस विवादित बयान के बाद मध्य प्रदेश भाजपा के मीडिया संपर्क प्रमुख अनिल सौमित्र को सभी पदों से निलंबित कर दिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने अनिल सौमित्र से 7 दिन में जवाब दिया। इससे पहले भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, अनंतकुमार हेगड़े और मध्य प्रदेश के मीडिया संयोजक नलिन कतील को भी नोटिस दिया है।
असल में, अनिल सौमित्र ने फेसबुक पर की गई अपनी पोस्ट में बिना किसी का नाम लिए कहा- राष्ट्रपिता थे, लेकिन पाकिस्तान राष्ट्र के। भारत राष्ट्र में तो उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए। कुछ लायक तो कुछ नालायक। इस बारे में अनिल सौमित्र ने हालांकि बाद में कहा कि ये उनके व्यक्तिगत विचार हैं और इनका पार्टी के दायित्व से कोई लेना देना नहीं है।
उन्होंने दावा किया कि वे महात्मा गांधी के विचारों के अध्येता हैं और अध्ययन करते हुए कई विचार आते हैं। उन्होंने अपने उसी विचार को पेश किया है।

 

पाकिस्तान निर्माण में गांधी की मौन स्वीकृति थी
उन्होंने आरोप लगाया कि अंग्रेजों ने भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति की प्रक्रिया के बाद देश के एक राष्ट्र होने की प्रक्रिया के दौरान महात्मा गांधी को ‘फादर ऑफ नेशन’ कहा था, लेकिन कांग्रेस ने इस शब्द का अपने फायदे के लिए हिंदी तर्जुमा कर दिया।
उन्होंने ये भी कहा कि पाकिस्तान निर्माण में महात्मा गांधी की मौन स्वीकृति थी और इसीलिए उनके विचार से उन्हें पाकिस्तान का ही राष्ट्रपति कहा जाना चाहिए।

 

इसके पहले कल ही भोपाल से भाजपा प्रत्याशी सुश्री ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को देशभक्त बता दिया था। इस बयान पर भी बवाल मचने पर उन्होंने माफी मांगी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here