पंचांग 30 अप्रैल 2019: वरूथिनी एकादशी, दिन भर पंचक

भोपाल // राष्ट्रीय मिति वैशाख 10, शक संवत् 1941, वैशाख कृष्ण एकादशी, मंगलवार विक्रम संवत् 2076। सौर वैशाख मास प्रविष्टे 17, शब्बान 24, हिजरी 1440 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 30 अप्रैल सन् 2019 ई॰।
 
सूर्य उत्तरायण, उत्तर गोल, ग्रीष्म ऋतु। राहुकाल अपराह्न 3 बजे से 04 बजकर 30 मिनट तक। एकादशी तिथि अर्धरात्रोत्तर 12 बजकर 18 मिनट तक उपरांत द्वादशी तिथि का आरंभ।
शतभिषा नक्षत्र प्रातः 8 बजकर 14 मिनट तक उपरांत पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र का आरंभ, ऐन्द्र योग अगले दिन तड़के 5 बजकर 09 मिनट तक उपरांत वैधृति योग का आरंभ।
बव करण पूर्वाह्न 11 बजकर 14 मिनट तक उपरांत कौलव करण का आरंभ। चन्द्रमा अगले दिन तड़के 4 बजकर 15 मिनट तक कुंभ उपरांत मीन राशि पर संचार करेगा।
सूर्योदय का समय 30 अप्रैलः सुबह 05 बजकर 41 मिनट पर
सूर्यास्त का समय 30 अप्रैलः शाम 06 बजकर 55 मिनट पर
आज का शुभ मुहूर्तः
अमृत काल आज मध्य रात्रि में 02 बजे से सुबह 03 बजकर 47 मिनट तक। आज त्रिपुष्कर योग बना है जो मध्यरात्रि में 12 बजकर 18 मिनट से सुबह 05 बजकर 45 मिनट तक रहेगा।
अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 52 मिनट से दोपहर 12 बजकर 45 मिनट तक होगा। लाभ योग सुबह 11 बजकर 01 मिनट से 12 बजकर 37 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 30 मिनट से 03 बजकर 22 मिनट तक रहेगा। निशिथ काल मध्यरात्रि में 11 बजकर 56 मिनट से 12 बजकर 40 मिनट तक होगा।
पंचक आज पूरे दिन रहेगा
आज राहुकाल दोपहर 03 बजे से 04 बजकर 30 मिनट तक। दोपहर 12 बजकर 19 मिनट से 01 बजकर 57 मिनट तक गुलिक काल है। सुबह 09 बजकर 02 मिनट से 10 बजकर 40 मिनट तक यमगंड रहेगा। पंचक आज पूरे दिन रहेगा।
आज के उपायः हनुमान चालीसा का पाठ और सिंदूर का तिलक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here