सवा माह में दूसरी बार विक्रम विवि के कुलपति बने डॉ शर्मा

 भोपाल (janprachar.com)
 उज्जैन के विक्रम विश्वविद्यालय में धारा-52 के कुलपति के रूप में संस्कृतविद् डॉ. बालकृष्ण शर्मा की नियुक्ति हो गई है। राजभवन से आदेश जारी होने  पर डॉ. शर्माने गुरुवार सुबह 11 बजे विश्वविद्यालय पहुंचकर पदभार संभाला।  सवा महीने में दूसरी बार एक ही विवि के कुलपति के रूप में उन्होंने पदभार संभाला।
सिंधिया प्राच्य विद्या शोध संस्थान के निदेशक एवं आचार्य तथा कला संकाय के अध्यक्ष रहे डॉ. शर्मा जिस विश्वविद्यालय के विद्यार्थी रहे, वहीं के चह प्रोफेसर और अब कुलपति बने हैं। दरअसल, प्रो. एसएस पांडे के 7 फरवरी को कुलपति पद से इस्तीफ ा दिए जाने के बाद राजभवन ने डॉ. शर्मा को प्रभारी कुलपति नियुक्त किया था। उन्होंने 8 फरवरी को पदभार ग्रहण कर लिया था। कुछ परिवर्तन के साथ कामकाज शुरू ही किया था कि 15 फ रवरी को राज्य सरकार ने विवि में धारा-52 लागू कर दी थी। मगर इस धारा अंतर्गत सरकार ने नए कुलपति की नियुक्ति नहीं की।
नतीजतन राजभवन से मार्गदर्शन लेकर डॉ. शर्मा विश्वविद्यालय का संचालन करते रहे। इसी बीच 25 फ रवरी को डॉ. शर्मा की छोटी बहन चंद्रकांता शर्मा का निधन हो गया था और वे इंजीनियरिंग विभाग  के प्रोफेसर डॉ. एमएस परिहार को प्रभार  देकर लंबी छुट्टी पर चले गए। गुरुवार को छुट्टी से लौटे तो राजभवन के ताजा आदेश से धारा-52 के कुलपति के रूप में पदभार संभाला। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here