आचार्य श्री के 50 वें दीक्षा दिवस कार्यक्रम में कीर्ति स्तंभ और विद्यासागर उपवन का लोकार्पण

आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज को भारत रत्न से सम्मानित करे केन्द्र- मंत्री शर्मा
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री पी सी शर्मा ने आज आचार्य विद्यासागर जी महाराज के 50वें दीक्षा दिवस कार्यक्रम में कीर्ति स्तंभ और विद्यासागर उपवन के राजा भोज सेतु पर सम्पन्न लोकार्पण समारोह में कहा कि आचार्य विद्यासागर जी महाराज को केन्द्र सरकार भारत रत्न प्रदान कर सम्मानित करे। उन्होंने कहा कि अगर केन्द्र सरकार यह घोषणा नहीं करती है, तो हम केंद्र में आने के बाद आचार्य को भारत रत्न से सम्मानित करेंगे। मंत्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार धार्मिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्य कर रही है। सरकार द्वारा प्रत्येक ग्राम पंचायत में गौ-शालाओं का निर्माण किया जाएगा। नगरीय निकाय भी अगर गौ-शालाओं का निर्माण करते हुए उन्हें मंदिरों से सम्बद्ध करते हैं, तो सरकार सभी आवश्यक मदद मुहैया कराएगी। शर्मा ने कहा कि सरकार ने पुजारियों के मानदेय में 3 गुना वृद्धि की है। सरकार धर्म के प्रति पूरी तरह समर्पित है। उन्होंने कहा कि जिसे जैन मुनियों का आशीर्वाद मिल जाए, उसे दुनिया में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। शर्मा ने कहा कि लोकार्पित संयम कीर्ति स्तंभ न केवल जैन समाज को बल्कि सभी समुदायों को संयम के लिए प्रेरित करता रहेगा। उन्होंने स्व.अशोक जैन भाभा की समाज-सेवा का स्मरण करते हुए उन्हें अजातशत्रु कहा।

लड़कियों के विवाह की उम्र हो 25 वर्ष :- आचार्य श्री
आचार्य विद्यासागर जी ने देश में लड़कियों के गायब होने पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि देश में अब तक 18 से 25 वर्ष आयु वर्ग की 1,82,000 लड़कियाँ गायब हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को 25 वर्ष की उम्र में जिले की कमान सौंपी जाती है। निर्वाचन में सांसद और विधायक बनने के लिए 25 वर्ष उम्र निर्धारित की गई है। विवाह की उम्र भी 25 वर्ष निर्धारित की जाए ताकि कन्याओं की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। समारोह में धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री पी सी शर्मा, महापौर आलोक शर्मा और नगर निगम सभापति सुरजीत सिंह चौहान का शाल, श्रीफल तथा स्मृति-चिन्ह भेंटकर अभिनंदन किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here