गारंटी फ ्री लोन की सीमा बढ़ाने से मिलेगा छोटे किसानों को फ ायदा : रणवीर सिंह रावत

रिजर्व बैंक द्वारा किसानों के लिए बिना गारंटी लोन की सीमा बढ़ाना एक स्वागत योग्य कदम है। इस निर्णय से देश के छोटे और सीमांत किसानों को लाभ होगा और वे साहूकारों के चंगुल में फ ंसने से बच जाएंगे। यह बात भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रवणीर सिंह रावत ने किसानों के लिए कॉलेटरल फ्री लोन की सीमा बढ़ाए जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही। उन्होंने कहा,कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने गुरुवार को किसानों के लिए बिना गारंटी लोन की सीमा में 60 हजार रुपए की वृद्धि कर दी है। इसके लागू होने पर देश के किसान अब 1.60 लाख रुपए तक का कर्ज बिना किसी गारंटी के ले सकेंगे। रावत ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय वित्त मंत्री एवं रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि आरबीआई के इस निर्णय से यह बात स्पष्ट हो गई है कि देश के गरीब और छोटे किसानों की बेहतरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर है। रावत ने कहा कि गारंटी फ ्री लोन की सीमा 2010 में एक लाख रुपए तय की गई थी। पिछले 9 सालों में खेती की लागत बढ़ गई है। ऐसे में इस तरह के कर्ज की सीमा 60 हजार रुपए बढ़ाए जाने से छोटे किसान अपनी खेती में पर्याप्त लागत लगा सकेंगे और इसके लिए उन्हें साहूकारों पर निर्भर भी नहीं होना पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here