सरकार ने मेधावी योजना का दायरा बढ़ाया, 6 से 7.5 लाख रु.आय तो 75 फीसदी फीस सरकार भरेगी

भोपाल
 मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार मेधावी योजना  के तहत छात्र-छात्राओं को बड़ी राहत देने जा रही है. शिवराज सरकार में मेधावी योजना शुरू की गई थी और इस योजना के अंतर्गत उन छात्रों को स्कालरशिप मिलती थी जिनके अभिभावक या पालक की आय 6 लाख रूपए या उससे कम थी, पर कमलनाथ सरकार ने अब नियमों में बदलाव किए हैं. नए नियम के तहत राज्य सरकार ने उन वंचित छात्रों को राहत देने की बात कही है जिनके पालक की आय 6 से 7.5 लाख तक हो गई है. सरकार छात्रों की 75 फीसदी फीस खुद भरेगी.

वित्त विभाग की मंजूरी
वित्त विभाग ने मेधावी योजना को नियमों में बदलावों के साथ सहमति दे दी है. वित्त की सहमति के बाद यह प्रस्ताव मंजूरी के लिए सीएम सचिवालय और कैबिनेट तक जा सकता है. स्कीम का दायरा बढ़ने से प्रदेश के लगभग 45 हजार मेधावी छात्र-छात्राओं को इसका लाभ मिलने की उम्मीद है.

मेधावी योजना का इन छात्र-छात्राओं को मिलेगा लाभ

 मध्य प्रदेश के मूल निवासी हालांकि उनके निवास प्रमाण पत्र की जांच होगी

 माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधीन 12वीं कक्षा 70 प्रतिशत या इससे अधिक अंकों के साथ पास की हो

 सीबीएसई कोर्स से 12वीं परीक्षा 85 प्रतिशत या इससे अधिक नंबरों से पास की हो
आईआईटी-जेईई मेंस में रैंक डेढ़ लाख के अंदर हो

मेडिकल के उन छात्रों को लाभ मिलेगा जो नीट से एमबीबीएस और बीडीएस में दाखिला लेंगे

 भारतीय शिक्षण संस्थान की ओर से आयोजित मेडिकल परीक्षा में दाखिला लेने पर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here