मकर संक्रांति स्नान के लिए लबालब व निर्मल हुई क्षिप्रा

मकर संक्रांति स्नान के लिए लबालब व निर्मल हुई क्षिप्रा

मुख्यसचिव ने किया निरीक्षण,जताया संतोष

बीते सप्ताह शनिश्चरी अमवस्या पर पानी को मोहताज रही क्षिप्रा नर्मदा का पानी पाकर अब उज्जैन में लबालब व निर्मल हो गई है। सोमवार व मंगलवार को मकर संक्रांति के मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु इस नदी में स्नान कर पुण्य लाभ अर्जित करेंगे।

मुख्य सचिव एसआर मोहंती  ने आज  उज्जैन का दौरा कर मकर संक्रांति पर क्षिप्रा नदी के घाटों पर होने वाले स्नान संबंधित व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वह शनि मंदिर त्रिवेणी घाट और राम घाट गए। उनके साथ नर्मदा घाटी विकास  प्राधिकरण  के अपर मुख्य सचिव रजनीश वैश्य, अपर मुख्य  सचिव राधेश्याम जुलानिया, प्रमुख सचिव संजय दुबे और प्रमोद अग्रवाल थे। इन आला अधिकारियों ने क्षिप्रा नदी के घाटों पर पानी की बेहतरीन स्थिति देखकर प्रशासन की सराहना की । मोहंती ने उज्जैन के कलेक्टर शशांक मिश्रा को वेलडन कह कर शाबाशी दी। बाद में मोहंती ने  उज्जैन में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में मकर संक्रंान्ति संबंधित  व्यवस्थाओं की समीक्षा भी की।  मुख्य सचिव हेलीकॉप्टर से आज दोपहर 12:45 बजे उज्जैन पहुंचे थे।

ज्ञात हो कि बीते सप्ताह  शनिश्चरी अमावस्या के दिन क्षिप्रा नदी में स्नान के लिए श्रद्धालुओं को पानी ही नसीब नहीं हो पाया था और उस स्नान को कीचड़ स्नान का नाम दिया गया था । इस प्रकरण में लापरवाही के मद्देनजर राज्य शासन ने लोगों की भावना को देखते हुए उज्जैन के तत्कालीन कमिश्नर और कलेक्टर का तबादला कर दिया था।

अब राज्य शासन इस धार्मिक उत्सव पर यह सुनिश्चित करना चाहती है कि मकर संक्रांति के दिन उज्जैन में नदी में स्नान के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध हो और यह आयोजन पूरी श्रद्धा के साथ मनाया जाए । इसी बात को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश के प्रशासनिक मुखिया ने स्वयं उज्जैन पहुंचकर व्यवस्थाओं को देखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here