चीन को 56 इंच का सीना दिखाएं मोदी: सिब्बल

महाबलिपुरम
चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे से ठीक पहले कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्‍बल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। सिब्‍बल ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी चीनी राष्‍ट्रपति ने आर्टिकल 370 पर इमरान खान का समर्थन किया है और आप 56 इंच का अपना सीना दिखाएं और उनकी आंखों में आंख डालकर कहें कि चीन कश्‍मीर में 5000 किलोमीटर इलाके को छोड़े।
सिब्‍बल ने ट्वीट कर कहा, 'चूंकि शी जिनपिंग ने आर्टिकल 370 हटाए जाने पर इमरान खान का समर्थन किया है, इसलिए मोदी जी को महाबलिपुरम में उनके (चीनी राष्‍ट्रपति) के आंखों में आंख डालकर यह कहना चाहिए। पहली बात- कश्‍मीर में कब्‍जा की गई 5000 किमी जमीन को चीन छोड़े। दूसरी बात- भारत में 5G के लिए हुवावे को अनुमति नहीं। अपनी 56 इंच की छाती दिखाएं या क्‍या यह हाथी के दांत खाने के और दिखाने के और हैं।'

मनीष तिवारी ने भी चीन को लेकर सरकार को घेरा
इससे पहले कांग्रेस के नेता मनीष तिवारी ने भी चीन को लेकर सरकार को घेरा था। शी चिनफिंग के इस बयान कि वह कश्मीर पर नजर बनाए हुए हैं, पर कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने सरकार से सवाल किया है कि वह हॉन्ग कॉन्ग में प्रदर्शनों और शिनजियांग में मानवाधिकारों के उल्लंघन पर चीन को क्यों नहीं घेर रही है।

तिवारी ने ट्वीट किया, 'शी चिनफिंग कहते हैं कि वह कश्मीर पर नजर बनाए हुए हैं लेकिन प्रधानमंत्री और विदेश मंत्रालय क्यों नहीं कहते… 1- हम हॉन्ग कॉन्ग में लोकतंत्र समर्थक विरोध प्रदर्शनों के दमन को देख रहे हैं। 2- हम शिनजियांग में मानवाधिकारों के उल्लंघन को देख रहे हैं। 3- हम तिब्बत में लगातार हो रहे अत्याचार को देख रहे हैं। 4- हम साउथ चाइना सी को देख रहे हैं।'

भारत और चीन के बीच बयानों में तीखापन
बता दें कि चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग दो दिवसीय अनौपचारिक बातचीत के लिए आज महाबलिपुरम पहुंच रहे हैं। मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से 48 घंटे पहले बुधवार को कश्मीर के मुद्दे पर भारत और चीन के बीच बयानों में तीखापन देखा गया है। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की मुलाकात के बाद पेइचिंग के उस बयान पर नई दिल्ली ने तीखी प्रतिक्रिया दी जिसमें कश्मीर मसले को 'संबंधित' यूएन चार्टर के मुताबिक सुलझाने की बात कही गई थी। भारत ने दो टूक कहा कि वह अपने आंतरिक मामलों में इस तरह की टिप्पणी का स्वागत नहीं करता है।

'चीन किसी भी एकतरफा कार्रवाई का विरोध करता'
चीन के सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने बताया कि चिनफिंग ने इमरान खान से कहा, 'कश्मीर में हालात ठीक हैं या खराब, यह स्पष्ट है। चीन पाकिस्तान के वैध अधिकारों व हितों की रक्षा का समर्थन करता है और उम्मीद करता है कि संबंधित पक्ष विवाद का शांतिपूर्ण बातचीत के जरिए समाधान कर सकते हैं।'

चीन ने कहा कि वह ऐसी किसी भी एकतरफा कार्रवाई का विरोध करता है, जिससे हालात और जटिल हों। चीन और पाकिस्तान की तरफ से जारी जॉइंट स्टेटमेंट में भले ही कश्मीर विवाद को बातचीत के जरिए सुलझाने की बात कही गई है, लेकिन उसका झुकाव इस्लामाबाद की तरफ साफ दिखा। चीन की राय को भारत ने पूरी तरह से खारिज किया है। हालांकि दोनों देशों के बीच समिट में यह मुद्दा उभरता है तो फिर समिट में ही गतिरोध पैदा होने की आशंका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here