मप्र में भी शुरू हुई ‘आयुष्मान भारत’योजना, 1.30 करोड़ लोगों को मिलेगा फायदा

भोपाल//मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आयुष्मान भारत योजना एक नयी क्रांति है। यह दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबों के लिये यह अदभुत योजना बनाई है। योजना से प्रदेश के एक करोड़ 30 लाख परिवार लाभांवित होंगे।


मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत – निरामयम मध्यप्रदेश के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में केन्द्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री थावरचंद गेहलोत भी उपस्थित थे।
श्री चौहान ने कहा कि आयुष्मान भारत – निरामयम मध्यप्रदेश योजना का क्रियान्वयन प्रदेश में ट्रस्ट मॉडल के रूप में होगा। इसके लिए व्यापक प्रचार अभियान चलाया जायेगा। संबल योजना के हितग्राहियों को भी आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री ने कहा,कि स्वच्छ भारत अभियान से बीमारियों की रोकथाम में मदद मिली है। इंदौर इसका उदाहरण है,जहां स्वच्छता के कारण बीमारियों के प्रतिशत में कमी आई। उन्होंने कहा,कि जरूरतमंदों मरीजों के लिए प्रदेश में पहले से ही मुख्यमंत्री स्वेच्छा अनुदान व राज्य बीमारी सहायता निधि से आर्थिक मदद दी जा रही है। वहीं सरकारीअस्पतालों में दवाएं नि:शुल्क वितरित हो रही हैं। श्री चौहान ने कहा,कि केंद्र की सभी कल्याणकारी योजनाओं को हमने प्राथमिकता के साथ क्रियान्वित किया।
तोमर, गेहलोत ने भी की सराहना
केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास समेत केन्द्र की तमाम योजनाओं के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश देश में पहले भी अव्वल रहा है। इस योजना के क्रियान्वयन में भी मध्यप्रदेश सबसे आगे रहेगा। श्री तोमर ने कहा,कि गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों के जीवन स्तर में सुधार की कई योजनायें केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई हैं। आयुष्मान भारत-निरामयम भी इनमें एक है। केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्री श्री गेहलोत ने कहा कि गरीबों को स्वास्थ्य सुविधायें बिना दिक्कत के आसानी से मिलें, इसके लिये आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई है। प्रदेश के राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि सभी पात्र परिवारों को योजना का लाभ मिले, इसका संकल्प लें।
1.30 करोड़ लोगों को मिलेगा लाभ
कार्यक्रम में मौजूद स्वास्थ्य अपर मुख्य सचिव श्रीमती गौरी सिंह ने बताया कि प्रदेश के एक करोड़ 30 लाख परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इसके क्रियान्वयन के लिये दीनदयाल स्वास्थ्य सुरक्षा परिषद का गठन किया गया है। योजना में 300 शासकीय और निजी अस्पतालों को सूचीबद्ध किया जा चुका है। योजना के तहत चिन्हित हर अस्पताल में आयुष्मान मित्र पदस्थ किये गये हैं। कार्यक्रम में योजना पर आधारित विभाग की एक निर्देश पत्रिका का विमोचन एवं 51 जिला अस्पतालों की ई-हॉस्पिटल वेबसाइट का शुभारंभ भी किया गया। वहीं राष्ट्रीय कायाकल्प अभियान में चयनित सतना और भिण्ड जिला अस्पतालों के अधीक्षकों को पुरस्कृत किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here