मप्र : होशंगाबाद में नर्मदा ने पार किया खतरे का निशान

भोपाल। भोपाल सहित अन्य जिलों में तेज बारिश का दौर रुक-रुककर जारी है। इस कारण नर्मदा, तवा, बेतवा सहित अन्य नदी-नाले उफान पर हैं। होशंगाबाद में नर्मदा नदी मंगलवार को खतरे के निशान 964 फीट को पार कर गई।
होशंगाबाद की निचली बस्तियों में बाढ़ के हालात बने
शाम 6 बजे सेठानीघाट पर नर्मदा का जलस्तर 965.50 फीट पर था। छह साल बाद यहां खतरे का अलार्म बजाने की नौबत बनी। हालांकि, अलार्म में तकनीकी खराबी के कारण मोबाइल की रिंगटोन बजाकर लोगों को चेताया गया।
रायसेन में बेतवा और बारना ने रोके रास्ते
रायसेन में बेतवा नदी का पानी पग्नेश्वर पुल पर करीब 20 फीट ऊपर होने से रायसेन-सांची मार्ग दसवें दिन भी बंद है। इससे सांची, सलामतपुर, दीवानगंज क्षेत्र केक लोगों को मेहगांव, विदिशा होकर काफी लंबा चक्कर लगाकर जाना-आना पड़ रहा है। वहीं बारना बांध से लगातार पानी छोड़े जाने के कारण बारना नदी के पुल पर शाम को करीब 12 फीट पानी था। जिससे जयपुर-जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग-12 बंद रहा।
इसी तरह उदयपुरा क्षेत्र में बोरास पुल पर नर्मदा नदी का पानी 5 फीट ऊपर होने से उदयपुर-नरसिंहपुर मार्ग बंद रहा। उधर, हलाली बांध लबालब होने के कारण वहां पर रायसेन नपा के इंटेकवेल और टरबाइन पंप में पानी भर गया। जिससे दो दिन तक रायसेन में पानी सप्लाई ठप रहेगी। नपा ने इसकी मुनादी भी करा दी है।
राजघाट बांध के 15 गेट खोले
अशोकनगर जिले के चंदेरी में बेतवा नदी पर बना राजघाट बांध फिर लबालब हो गया। मंगलवार को बांध के कुल 18 में से 15 गेट खोल दिए गए। जिससे चंदेरी-ललितपुर मार्ग के पुल पर पानी आने से यातायात बंद हो गया। शाम को इस पुल पर करीब 13 फीट पानी था।
तवा बांध के 13 गेट खोले
इटारसी में शाम तक तवा बांध के 13 गेट सात फीट ऊंचाई तक खोल दिए गए। दिनभर में बांध से करीब 2 लाख 46 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इस मानसून में यह पांचवा मौका है, जब तवा बांध के पूरे 13 गेट खोलना पड़े। इसके अलावा क्षेत्र के अन्य नदी-नाले उफान पर होने से करीब 120 गांवों का इटारसी से सड़क संपर्क टूटा रहा। इटारसी की निचली बस्तियों में भी पानी भराने से लोगों को परेशानी हुई।
मोहनपुरा बांध का ग्यारहवां गेट भी खोला
राजगढ़ में बीती रात तक मोहनपुरा बांध केक 10 गेट खुले हुए थे। देर रात ग्यारहवां गेट भी खोल दिया गया। इंदौर-ग्वालियर रेलवे लाइन को डूबने से बचाने के लिए इस बांध के गेट बार-बार खोलने पड़ रहे हैं। हालांकि, बांध अभी पूरा नहीं भरा है।
गुना में ट्रक नदी में गिरा, चालक सुरक्षित
गुना जिले के बमोरी क्षेत्र की नदियां उफान पर होने से कई गांवों के रास्ते बंद हैं। इसी क्षेत्र में भौंरा नदी के पुल पर पानी होने के बावजूद एक ट्रक चालक ने पार करने का प्रयास किया, तो ट्रक नदी में गिर गया। वहां मौजूद ग्रामीणों ने ट्रक चालक को सुरक्षित निकाल लिया। वह नशे में था, इसलिए कुछ बता नहीं पाया।
विदिशा में बंद रहे रास्ते
विदिशा में दोपहर ढाई बजे तक मौसम खुला रहा। उसके बाद तेज बारिश हुई। यहां बेतवा नदी लगातार उफान पर होने से विदिशा का अशोकनगर, गंजबासौदा, कुरवाई, सिरोंज से सड़क संपर्क टूटा हुआ है।
सीहोर में मकान का छज्जा गिरा, कोई हताहत नहीं
सीहोर के बड़ा बाजार में एक जर्जर मकान के आगे का हिस्सा गिर गया। हालांकि, वहां कोई नहीं होने से कोई हताहत नहीं हुआ। जिले में बारिश की स्थिति सामान्य रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here